स्व.श्रीमती मीना जैन की पुस्तक “अनकही कहानियाँ ” का लोकार्पण

स्व.श्रीमती मीना जैन की पुस्तक “अनकही कहानियाँ ” का लोकार्पण Dedication of book Untold Stories by late Mrs. Meena Jain

नारी कभी ना हारी लेखिका साहित्य संस्थान जयपुर और सपनाज ड्रीम्स् चैरिटेबल ट्रस्ट के तत्वावधान में दिनांक 28 फरवरी 2021 को स्व.श्रीमती मीना जैन जी की पुस्तक ” अनकही कहानियाँ ” का लोकार्पण होटल सी – नाइन में समारोह पूर्वक हुआ । श्रीमती मीना जैन की अभिलाषा थी पुस्तक छपवाने की लेकिन केंसर के क्रूर काल ने उन्हें हम से छीन लिया । ‘ नारी कभी ना हारी लेखिका साहित्य संस्थान की संस्थापक अध्यक्ष वीना चौहान व नीलम सपना के प्रयास से यह पुण्य कार्य उनके पति ज्ञानचंद जी जैन ने पूर्ण किया । कार्यक्रम का शुभारंभ समारोह अध्यक्षा श्रीमती लाड कुमारी जैन एंव सस्थापक अध्यक्ष श्रीमती वीना चौहान और संस्था के समस्त पदाधिकारियों ने दीप प्रज्वलित करके किया ।

कार्यक्रम की अध्यक्षा श्रीमती लाड कुमारी जैन, पूर्व अध्यक्ष राजस्थान राज महिला आयोग ने महिलाओं को आगे बढ़ने व अन्याय न सहने का संदेश दिया एंव जैन धर्म तथा नमोकार मंत्र पर सभी का मार्गदर्शन किया ।

   प्रोफेसर श्री अखिल शुक्ला जी ने " अनकही कहानियाँ " के मर्म पर चर्चा की । उन्होने अपने उद्बोधन में कहा कि किसी भी लेखन कला को आगे बढाना अच्छी बात हैं । 

डॉ.रूपा सिंह ने बहनों को लेखन की बारीकियों से परिचित करवाया । 

श्री राज नारायण शर्मा रजिस्ट्रार भीमराव अम्बेडकर युनिवर्सिटी जयपुर ने लेखन साहित्य के बारे में चर्चा की और कहा कि स्व.मीना जी ने जिस सूक्ष्मदृष्टा के रूप में मूल्यो को पिरोया हैं , वो गहरी बाते हैं । 

कार्यक्रम में प्रोफेसर डॉ.आई.पी.जैन , जिनका विश्व के शिक्षक वैज्ञानिको की सूची में शीर्ष 2 प्रतिशत में चयन हुआ है , जो भारत के गौरव हैं । उनके द्वारा स्व .श्रीमती मीना जैन के जीवन वृत्त पर प्रकाश डाला एंव साहित्य पर चर्चा की । 

पत्रिका कविकुंभ की संचालिका श्रीमती रंजीता सिंह (देहरादून) ने भविष्य में राष्ट्रीय स्तरपर साहित्य सम्मेलन कराने के बारे में जानकारी प्रदान की । 

कानूनों के प्रकांड पण्डित और श्रेष्ठतम समाज सेवक ऋषभचंद जैन ने स्व.मीना कुमारी जैन के व्यक्तिगत जीवन पर प्रकाश डाला ।

हिमानी जैन राजस्थान न्यायिक सेवा ने अपनी नानी स्व .मीना कुमारी जैन के पारिवारिक प्रेम एंव धार्मिक चरित्र पर विस्तृत प्रकाश डाला एंव उन्होंने आगे कहा कि यदि नारी को सही मंच मिल जाये तो वो काफी आगे बढ़ सकती हैं ।

श्रीमती अलका शाह ने अपनी माँ को शिक्षक के रूप में उनके द्वारा किये गये कार्य एंव माँ के प्रति अपने उद्गार भाव व्यक्त किये ।

 श्री सौभागमल जैन ,एसएफएस दिगम्बर जैन मन्दिर एव जैन सोशल ग्रुप के मंत्री ने कहा कि दिगम्बर जैन मन्दिरो में उनके द्वारा दिये गये सहयोग एंव धार्मिक कार्य अतुलनीय है। 

पुस्तक की समीक्षक प्रोफेसर श्रीमती पूनम सेठी ने बताया कि स्व.मीना कुमारी जैन की छोटी – छोटी कहानियाँ हमे जीवन में मार्गदर्शन देती हैं । मंच संचालन श्रीमती निरूपमा चतुर्वेदी जी ने किया । श्रीमती नीलम सपना शर्मा जी एवं श्री ज्ञान चंद जी जैन ने सभी का आभार व्यक्त किया।

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: