दि न्यूयार्क टाइम्स से विशेष अनुबंध के तहत: नॉर्वेजियन द्वीप पर बने इस स्टेशन से दुनियाभर के सैटेलाइट पर रखी जाती है नजर


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

29 मिनट पहलेलेखक: अन्ना फिलिपोवा/हेनरी फाउंटेन

  • कॉपी लिंक

धरती के उत्तरी सिरे पर है आर्कटिक स्टेशन।

तस्वीर धरती के उत्तर में सबसे आखिरी सिरे उत्तरी ध्रुव पर बने आर्कटिक स्टेशन की है। नॉर्वेजियन द्वीप पर बने इस स्टेशन पर गुंबद जैसे 100 सेंटर हैं, जिनमें अत्यंत संवेदनशील एंटिना लगे हैं, जो नासा, यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी, जापान एयरोस्पेस एजेंसी और अन्य देशों के उपग्रहों पर नजर रखते हैं।

ये सैटेलाइट अंतरिक्ष में रोज औसतन 3,500 चक्कर लगाते हैं, जिनसे संपर्क कर ये एंटिना डाटा जुटाते हैं। इसके जरिए ग्लोबल वॉर्मिंग या जलवायु परिवर्तन, अंतरिक्ष, ग्लेशियर, जंगल और समुद्र तटों से जुड़ी रिसर्च की जाती है। इनमें नासा के लैंडसैट और ईएसए का सेंटिनल भी हैं। ये हर डेढ़ घंटे में उत्तरी ध्रुव से दक्षिणी ध्रुव का चक्कर लगाते हैं।

साल के 170 दिन बर्फ में दब जाते हैं एंटिना
यह स्टेशन नॉर्वे तट से करीब 1290 किमी दूर है। डायरेक्टर माज-स्तिना करीब 40 लोगों के स्टाफ की देखरेख करती हैं। सबसे बड़ी चुनौती एंटिना के मेंटेनेंस और रिपेयर की है, क्योंकि साल के 170 दिन ये बर्फ में दब जाते हैं। ऐसे में सैटेलाइट से आने-जाने वाले सिग्नल कमजोर या गायब हो सकते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *