ना’पाक’ भू-माफिया: पाकिस्तान में बिल्डर की दादागीरी; जबरन छीन रहे जमीन, विरोध किया तो गोलियां चला दी, 12 घायल

[ad_1]

  • Hindi News
  • International
  • Builder’s Grandfathering In Pakistan; Forcibly Snatching Land, When They Protested, Opened Fire, 12 Injured

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इस्लामाबाद2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
बहरिया टाउन एशिया के सबसे बड़े रियल एस्टेट डेवलपर्स में से एक है। इसके पूरे पाकिस्तान में प्रोजेक्ट हैं। - Dainik Bhaskar

बहरिया टाउन एशिया के सबसे बड़े रियल एस्टेट डेवलपर्स में से एक है। इसके पूरे पाकिस्तान में प्रोजेक्ट हैं।

  • बुलडोजर और बंदूकें लेकर ग्रामीणों को धमका रहे गुंडे
  • बहरिया टाउन कंपनी पर आरोप, इसके मालिक भुट्‌टो परिवार के करीबी

कराची के रहने वाले मुहम्मद अनवर एक सुबह जागे, तो देखा कि गांव की जमीन पर बुलडोजर काम कर रहे हैं। उन्होंने देखा कि लक्जरी टाउनशिप और बंगले बनाने वाली नामी कंपनी बहरिया टाउन के बुलडोजर उनके घर के पास की जमीन को समतल कर रहे हैं। उन्होंने इसका विरोध शुरू कर दिया। लेकिन एहसास नहीं था कि इसकी कीमत जान गंवाकर भी चुकानी पड़ सकती है।

गांव वालों के साथ प्रदर्शन कर रहे मुहम्मद और उनके साथियों पर कंपनी के लोगों ने गोलियां चला दी। जमकर पीटा भी गया। मुहम्मद के चेहरे पर चोट लगी और पेट में गोली भी। 12 लोग घायल हुए।

अनवर बताते हैं, ‘वे हमारी जमीन पर जबरन कब्जा कर रहे हैं। हमने उन्हें काम रोकने को कहा, तो उन्होंने हमें आगे बढ़ने से रोका। हम जैसे ही आगे बढ़े, उन्होंने गोलियां चला दीं। इसमें मेरे पेट और दोस्त जान शेर जुखियो के पैर में गोली लग गई। मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरे दोस्त मुझे अस्पताल ले आए।’

बहरिया टाउन एशिया के सबसे बड़े रियल एस्टेट डेवलपर्स में से एक है। इसके पूरे पाकिस्तान में प्रोजेक्ट हैं। इसके मालिक मलिक रियाज हुसैन ने गांव से लोगों को हटाने और जबरन कब्जे में कंपनी के शामिल होने के आरोपों को खारिज किया है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा- ‘बहरिया टाउन कभी भी किसी भी तरह की अवैध गतिविधियों का हिस्सा नहीं था और न ही हम भविष्य में ऐसा होने का इरादा रखते हैं।’

फसल, सब्जियां रौंदी, मिट्‌टी डालकर कुएं बंद कर दिए

स्थानीय निवासी अनवर ने बताया- ‘उन्होंने मेरे खेत की फसल, सब्जियां नष्ट कर दी। कुएं में भी मिट्‌टी डाल दी।’ वहीं जान शेर ने कहा- ‘हम अपनी जमीन बचाने आए थे। पुलिस से अस्पताल ले जाने को कहा, पर वह नहीं मानी।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: