अमेरिका: अश्वेत जॉर्ज फ्लायड की मौत की पहली बरसी पर फायरिंग, एक शख्स घायल

[ad_1]

फोटो सौ. (AP)

फोटो सौ. (AP)

अमेरिका में पिछले साल मई में पुलिस के हाथों मारे गए अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की पहली बरसी पर मिनियापोलिस (Minneapolis) में गोलीबारी हुई जिसमें एक व्यक्ति गोली लगने से घायल हो गया.

वॉशिंगटन. अमेरिका में पिछले साल मई में पुलिस के हाथों मारे गए अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd) की पहली बरसी पर मिनियापोलिस (Minneapolis) में गोलीबारी हो गई. इस दौरान एक व्यक्ति गोली लगने से घायल हो गया. हालांकि, पुलिस का कहना है कि घायल व्यक्ति की हालत खतरे से बाहर है. पुलिस अभी तक हमलावर की पहचान नहीं कर सकी है. आज शाम को जॉर्ज फ्लॉयड के परिवार का राष्ट्रपति जो बाइडन से मुलाकात करने का कार्यक्रम भी है. मिनियापोलिस पुलिस विभाग के प्रवक्ता जॉन एल्डर ने एक बयान में कहा कि अधिकारियों ने गोलियों की आवाज और एक कार के घटनास्थल से दो ब्लॉक दूर भागने की सूचना पर तुरंत कार्रवाई की है. बड़ी बात यह है कि गोलीबारी की घटना जॉर्ज फ्लॉयड स्क्वायर पर हुई है, इसी स्थान पर इस अश्वेत की पुलिस ने गला घोटकर हत्या कर दी थी. पुलिस प्रवक्ता एल्डर ने कहा कि कॉल करने वालों से मिली सूचना यह थी कि एक संदिग्ध वाहन को आखिरी बार तेज गति से क्षेत्र से बाहर निकलते देखा गया था. थोड़ी देर बाद एक व्यक्ति पास के अस्पताल में एक बंदूक की गोली लगने के बाद इलाज के लिए पहुंचा. पुलिस ने उस व्यक्ति से भी पूछताछ की है. घायल शख्स को को इलाज के लिए हेनेपिन काउंटी मेडिकल सेंटर ले जाया गया. इससे पहले एसोसिएटेड प्रेस ने बताया कि जॉर्ज फ्लॉयड के मौत की बरसी पर इकट्ठा हुए लोगों ने 30 बार गोलियां फायर होने का दावा किया है. ये लोग जॉर्ज फ्लॉयड स्क्वायर पर श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने के लिए एकत्रित हुए थे. इस मौके पर पूरे अमेरिका से बड़ी संख्या में लोग मिनियापोलिस पहुंचे हुए हैं. मिनिएसोटा में अश्वेक जॉर्ज फ्लायड की हत्या के बाद भी पूरे अमेरिका में विरोध प्रदर्शन हुए थे. उस समय भी पुलिस के ऊपर बर्बरता के आरोप लगाए गए थे. उस समय स्थिति इतनी गंभीर हो गई थी कि वॉशिंगटन में वाइट हाउस के बाहर विरोध प्रदर्शन के हिंसक होने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को सीक्रेट बंकर में जाना पड़ा था. इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें दोषी पुलिसकर्मी उसके गर्दन के ऊपर अपना घुटना दबाए दिखा था. वीडियो में फ्लॉयड को सांस न लेने की शिकायत करते भी सुना गया था. ये भी पढ़ें: लॉटरी टिकट फेंक कर चली गई थी महिला, भारतीय मूल के परिवार ने लौटाया तो जीती 10 लाख डॉलरपुलिस ने बताया था कि फ्लॉयड जालसाजी के एक मामले में संदिग्ध था. इसकी जांच के दौरान उसे कार से बाहर निकलने का आदेश दिया गया. बाहर निकलने के बाद जॉर्ज फ्लॉयड ने पुलिस अधिकारियों के साथ धक्कामुक्की की जिसके जवाब में अधिकारियों ने उसे हथकड़ी लगाकर जमीन पर गिरा दिया. इस दौरान एक पुलिस अधिकारी ने उसकी गर्दन पर अपना घुटना रख दिया जिससे उसकी मौत हो गई.







[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: