विरोध प्रदर्शन: लंदन में पाकिस्तान हाईकमीशन पर अफगान प्रदर्शनकारियों का हमला, पुलिस की मौजूदगी में पत्थरों से बिल्डिंग के शीशे तोड़े


  • Hindi News
  • International
  • Pakistan Imran Khan Goverment | Anti Pakistan Protest In London PAK High Commission Building Vandalised

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लंदन9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तानी हाईकमीशन के बाहर प्रदर्शन करते अफगान नागरिक।

अफगानिस्तान सरकार और वहां के लोग कई साल से पाकिस्तान पर आरोप लगाते रहे हैं कि वो अफगानिस्तान में तालिबान के जरिए हिंसा फैला रहा है। इसको लेकर अफगान नागरिकों में बेहद गुस्सा है। सोमवार शाम लंदन स्थित पाकिस्तान हाईकमीशन की बिल्डिंग के सामने अफगानों ने इसी गुस्से का इजहार किया। इस दौरान हाईकमीशन की बिल्डिंग पर पत्थर और बॉटल्स फेंकी गईं। इस दौरान बिल्डिंग के कुछ शीशे भी टूट गए।

पाकिस्तान ही हिंसा के के लिए जिम्मेदार
लंदन में सोमवार शाम सैकड़ों अफगान नागरिक पाकिस्तान हाईकमीशन पहुंचे। इन नागरिकों में कुछ लंदन में रहते थे तो कुछ ऐसे भी थे जो दूसरे यूरोपीय देशों से यहां प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे। कुछ देर नारेबाजी करने के बाद इन लोगों ने पत्थर और बॉटल्स हाईकमीशन की बिल्डिंग पर फेंके। इस दौरान पुलिस भी मौजूद थी। इन लोगों के हाथ में बैनर्स भी थे। जिन पर लिखा था- अफगानिस्तान में खून खराबे के लिए सिर्फ पाकिस्तान जिम्मेदार है। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

दो साल पहले भी हुआ था हमला
2019 में भी अफगान नागरिकों ने इसी बिल्डिंग के सामने प्रदर्शन किया था और उस दौरान भी काफी हिंसा हुई थी। तब भी इस बिल्डिंग पर पत्थरों से हमला किया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोमवार को हुए प्रदर्शन का आयोजन अफगान नागरिकों की संस्था ‘वतन’ ने किया था।

संगठन का आरोप है कि अफगानिस्तान में आम नागरिकों पर होने वाले हर हमले की साजिश पाकिस्तान में ही रची जाती है। हाल ही में वहां लड़कियों के एक स्कूल पर हमला हुआ था। हमले में 85 छात्राओं की मौत हो गई थी।

पाकिस्तान का इनकार
अफगानिस्तान सरकार और वहां के राष्ट्रपति कई बार पाकिस्तान पर सीधे और खुले तौर पर आरोप लगा चुके हैं कि उसकी सेना और खुफिया एजेंसी तालिबान को हमलों के लिए सुविधाएं मुहैया कराती है। इसके सबूत भी कई बार दुनिया के सामने रखे जा चुके हैं। दूसरी तरफ, पाकिस्तान सरकार इन आरोपों को खारिज करती आई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: