Covaxin को मंजूरी के मामले में WHO ने भारत बायोटेक से मांगी कुछ और जानकारियां

[ad_1]

कोवैक्सीन के इमरजेंसी यूज़ लिस्ट में शामिल होने के लिए डाली गई है अर्जी.

कोवैक्सीन के इमरजेंसी यूज़ लिस्ट में शामिल होने के लिए डाली गई है अर्जी.

भारतीय वैक्सीन कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी देने के मामले में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत बायोटेक से और ज्यादा जानकारी मांगी है. WHO की वेबसाइट पर इस पर ताजा गाइडलाइन रिपोर्ट के तहत ये जानकारी दी गई है.

न्यूयॉर्क. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि कोविड-19 के लिए अपने कोवैक्सिन टीके को आपात उपयोग वाली सूची (ईयूएल) में शामिल कराना चाह रही भारत बायोटेक से और अधिक जानकारी प्राप्त करने की जरूरत है. WHO की वेबसाइट पर 18 मई को जारी ‘WHO की EUL मूल्यांकन प्रक्रिया में कोविड-19 टीकों की स्थिति’ पर ताजा गाइडलाइन रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत बायोटेक ने 19 अप्रैल को EOI (एक्सप्रेशन और इंट्रेस्ट) जमा किया था. WHO को इस मामले में कंपनी से और जानकारी चाहिए. WHO के अनुसार, टीकों के आपात उपयोग की प्रक्रिया के लिए सूचीबद्ध करने के लिहाज से अनुमति देने के आवेदन गोपनीय होते हैं. एजेंसी के अनुसार, यदि मूल्यांकन के लिए जमा किया गया कोई दस्तावेज सूची में शामिल करने के मानदंड को पूरा करता पाया जाता है तो WHO व्यापक परिणाम जारी करेगा. इस बीच हैदराबाद स्थित भारत बायोटक इंटरनेशनल लिमिटेड (BBIL) ने सरकार से कहा है कि उसने कोवैक्सिन टीके को आपात उपयोग सूची (ईयूएल) में शामिल कराने के लिए डब्ल्यूएचओ को 90 प्रतिशत दस्तावेज जमा कर दिये हैं. नईदिल्ली में सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. सूत्रों के अनुसार, भारत बायोटेक ने केंद्र सरकार से कहा कि शेष दस्तावेज जून तक जमा किये जा सकते हैं. सूत्रों ने बताया कि EULपर भारत बायोटेक के साथ बैठक में कंपनी के प्रबंध निदेशक वी. कृष्ण मोहन और उनके सहयोगी तथा स्वास्थ्य मंत्रालय, जैवप्रौद्योगिकी विभाग तथा विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए. विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला भी बैठक में शामिल हुए. ये भी पढ़ें- क्यों नहीं बढ़ाया जा रहा कोवैक्सीन के दो डोज के बीच टाइम गैप, सरकार ने बताया11 देशों से मिल चुका है अप्रूवल: सूत्र भारत बायोटेक ने कोवैक्सीन को लेकर EUL में अर्जी की जानकारी कल ही दे दी थी. इसके अलावा सूत्रों के हवाले से खबर ये भी है कि कोवैक्सीन को पहले 11 देशों से रेग्युलेटरी अप्रूवल मिल चुका है. सके अलावा यूएस एफडीए के साथ भारत बायोटेक की बातचीत आखिरी चरण में है. ये फाइनल हो जाने के बाद यूएस में छोटे स्तर पर वैक्सीन का फेस-3 ट्रायल शुरू किया जाएगा. इसके अलावा कंपनी ब्राजील और हंगरी में कोवैक्सीन के उत्पादन के लिए रेग्युलेटरी अप्रूवल पाने की प्रक्रिया में ज्यादातर दस्तावेज़ जमा किए जा चुके हैं.







[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: