कोरोना कंट्रोल करने में कामयाब हो रहा महाराष्ट्र: पिछले 6 दिनों में लगातार कम हुए नए केस, रिकवरी रेट 92.51 प्रतिशत पहुंचा; 4 चरण में राज्य को अनलॉक करने की तैयारी भी शुरू

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai Pune (Maharashtra) Coronavirus Cases Numbers Update | Maharashtra Corona Cases District Wise Lockdown Today News; Mumbai Pune Thane Nashik Aurangabad Solapur Amravati

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे के दौरान नए संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा दोगुना हुआ है। - Dainik Bhaskar

महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे के दौरान नए संक्रमितों की तुलना में ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा दोगुना हुआ है।

महाराष्ट्र में कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या लगातार कम हो रही है। सोमवार को राज्य में 22 हजार 122 नए मरीज मिले हैं। 19 मई के बाद से राज्य में लगातार संक्रमितों का आंकड़ा कम हो रहा है। पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में 42 हजार 320 लोग कोरोना से ठीक होकर घर गए हैं। राज्य का रिकवरी रेट 92.51 प्रतिशत हो गया है। सोमवार को जो सबसे अधिक राहत की बात रही कि 19 अप्रैल के बाद यानी 35 दिन बाद यह कोरोना से मरने वालों की संख्या भी राज्य में पांच सौ से नीचे आ गई है। सोमवार को 361 लोगों की कोरोना से मृत्यु हुई। फिलहाल राज्य में मृत्यु दर 1.59 प्रतिशत हो गई है।

कम होते मामलों के बीच 1 जून से राज्य को चरणबद्ध तरीके से अनलॉक किया जाएगी। यह जानकारी राज्य के राहत एवं पुनर्वासन मंत्री विजय वडेट्टीवार ने दी है। उन्होंने कहा कि अगले चार दिनों के भीतर राज्य में लॉकडाउन शिथिल करने के मुद्दे पर फैसला लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य को चार चरण में अनलॉक किया जाएगा।

महाराष्ट्र में लगातार होने वाली मौतों के मामले में भी कमी देखने को मिली है।

महाराष्ट्र में लगातार होने वाली मौतों के मामले में भी कमी देखने को मिली है।

राज्य को 4 चरण में अनलॉक करने की तैयारी

  • पहले और दूसरे चरण में दुकानों को खोलने की इजाजत दी जा सकती है।
  • तीसरे चरण में महाराष्ट्र सरकार द्वारा होटल, रेस्टोरेंट, बार और शराब बिक्री की दुकानों को कारोबार शुरू करने की मंजूरी दी जा सकती है।
  • चौथे चरण में सरकार लोकल सेवा और धार्मिक स्थलों को खोलने की भी मंजूरी दे सकती है।
  • इसके अलावा जिन जिलों में लॉकडाउन या कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं, वहां पर हालात को देखकर फैसला लिया जाएगा।

महाराष्ट्र में पिछले 6 दिनों के दौरान कम हुए केस

तारीख नए केस
19 मई 34,031
20 मई 29,991
21 मई 29,644
22 मई 26,133
23 मई 26,672
24 मई 22,122
लॉकडाउन के बीच मुंबई में एक संस्था स्लम इलाकों में रहने वाले बच्चों के बाल कटवाने का काम कर रही है।

लॉकडाउन के बीच मुंबई में एक संस्था स्लम इलाकों में रहने वाले बच्चों के बाल कटवाने का काम कर रही है।

रेड जोन में शामिल जिलों को नहीं मिलेगी छूट
वडेट्टीवार ने बताया कि राज्य में अभी 14 जिले रेड जोन में हैं, इसलिए इन जिलों को छोड़ कर अन्य जिलों में लगी कड़ी पाबंदियों में छूट दी जायेगी। महाराष्ट्र के बुलढाणा, रत्नागिरी, सांगली, यवतमाल, सिंधुदुर्ग, अमरावती, सोलापुर, अकोला, सातारा, वाशिम,बीड, गढ़चिरोली, अहमदनगर और उस्मानाबाद शामिल हैं।

पुणे में मिले सिर्फ 494 नए केस
सबसे बड़ी बात यह है कि ऐक्टिव पॉजिटिव केस के मामले में कभी सर्वाधिक संख्या में मरीजों के रिकॉर्ड बनाने वाले पुणे में सोमवार सिर्फ 494 नए केस सामने आए। ऐक्टिव पॉजिटिव केस के मामले में ना सिर्फ महाराष्ट्र बल्कि देश में नंबर वन था, वहां ऐक्टिव केस अब 50 हजार से भी कम हो गए हैं। पुणे में फिलहाल 48 हजार 258 ऐक्टिव पॉजिटिव केस हैं।

लॉकडाउन के बीच मुंबई में एक बुजुर्ग महिला को ट्रेन तक ले जाता एक कुली।

लॉकडाउन के बीच मुंबई में एक बुजुर्ग महिला को ट्रेन तक ले जाता एक कुली।

महाराष्ट्र के अन्य शहरों का हाल
मुंबई की बात करें तो सोमवार को सिर्फ 1 हजार 57 नए केस सामने आए और 1 हजार 312 लोग कोरोनामुक्त हुए। मुंबई में ऐक्टिव पॉजिटिव केस 28 हजार 299 हैं। इसी तरह ठाणे और नागपुर की बात करें तो ठाणे में ऐक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 24 हजार 337 और नागपुर में ऐक्टिव पॉजिटिव केस की संख्या 16 हजार 562 हैं।

मुंबई के ज्यादातर क्वारैंटाइन सेंटर अब खाली हो रहे हैं।

मुंबई के ज्यादातर क्वारैंटाइन सेंटर अब खाली हो रहे हैं।

अगले 15 दिनों तक नहीं सभी को लोकल ट्रेन में एंट्री
राज्य के राहत और पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार ने सोमवार को बताया, ‘मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या घटी है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि कोरोना खत्म हो गया है। अत्यावश्यक सेवाओं के कर्मचारियों के लिए लोकल ट्रेन सेवा सीमित करने का असर अब दिखना शुरू हुआ है। इसीलिए फिलहाल सभी के लिए लोकल यात्रा सुलभ करने का कोई विचार नहीं है।’ उन्होंने कहा कि लोकल ट्रेनों में अगर सभी को यात्रा की अनुमति दी गई, तो भीड़ बढ़ जाएगी। इसीलिए अगले 15 दिन तक तो सभी को लोकल में सफर की इजाजत नहीं दी जा सकती।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *