अफ्रीकी देश में महिला सशक्तिकरण की नई सुबह: केन्या की मार्था कूम सुप्रीम कोर्ट की पहली चीफ जस्टिस बनी, टीवी पर इंटरव्यू में चयन

[ad_1]

  • Hindi News
  • International
  • Martha Kume Of Kenya Becomes First Chief Justice Of Supreme Court, Selection In TV Interview

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नैरोबी11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
केन्या की संसद ने जज मार्था कूम (61) को सुप्रीम कोर्ट की पहली चीफ जस्टिस बनाने का फैसला किया है। - Dainik Bhaskar

केन्या की संसद ने जज मार्था कूम (61) को सुप्रीम कोर्ट की पहली चीफ जस्टिस बनाने का फैसला किया है।

  • राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का केस लड़ चुकी हैं

अफ्रीकी देश केन्या महिला सशक्तिकरण की मिसाल कायम करने जा रहा है। केन्या की संसद ने जज मार्था कूम (61) को सुप्रीम कोर्ट की पहली चीफ जस्टिस बनाने का फैसला किया है। मार्था ने महिलाओं को हक दिलाने में अहम भूमिका निभाई है।

न्यायिक समिति ने टीवी पर लाइव इंटरव्यू लेकर मार्था का चयन किया। समिति ने चयन के लिए उस मुकदमे को प्राथमिकता दी, जिसमें मार्था ने सुप्रीम कोर्ट में राष्ट्रपति उहुरू केन्याट्‌टा का प्रतिनिधित्व किया था।

दरअसल, केन्या में 2017 के राष्ट्रपति चुनाव में विवाद हो गया था। विपक्ष ने केन्याट्‌टा के चुनाव को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। तब मार्था ने केन्याट्‌टा का सुप्रीम कोर्ट में प्रतिनिधित्व किया। तब सुप्रीम कोर्ट ने केन्याट्‌टा का चुनाव रद्द कर दिया था। उसके बाद केन्या में दोबारा चुनाव हुए थे। इस चुनाव में केन्याट्‌टा जीत गए थे। इस जीत का फायदा मार्था को मिल रहा है। अब मार्था सुप्रीम कोर्ट की प्रमुख बनने जा रही हैं।

किसी पर अपराध का शक कर भेदभाव करना ठीक नहीं

मार्था ने चीफ जस्टिस के इंटरव्यू के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा- किसी व्यक्ति से सिर्फ इसलिए भेदभाव नहीं किया जा सकता, क्योंकि आप मानते हैं कि वह अपराध करेगा।’ मार्था का जन्म एक बहुविवाही परिवार में हुआ था। मार्था अपने 18 भाई-बहनों में से एक हैं। उनका परिवार खेती-किसानी करता था। मार्था के तीन बच्चे हैं।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: