शिक्षकों को दो साल बाद भी नहीं मिला नियुक्ति पत्र, तेजस्वी ने नीतीश को घेरा

[ad_1]

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा है कि बिहार में प्राइमरी से लेकर सेकेंड्री स्तर तक शिक्षकों की भारी कमी है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने शिक्षा व्यवस्था को बर्बाद कर दिया और शिक्षकों का लगातार निरादर किया गया है। उन्होंने कहा कि शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को येन केन प्रकारेण टालना सरकार की द्वेषपूर्ण मानसिकता को उजागर करता है। 

तेजस्वी यादव ने कहा कि हमने अपने प्रण पत्र में संविदा प्रथा खत्म कर समान काम-समान वेतन देने का संकल्प लिया था। साथ ही सभी रिक्त पदों को पहली कलम से भरने का संकल्प लिया था। उन्होंने कहा कि नियोजन प्रक्रिया की सारी अर्हताएं और प्रक्रिया पूरी करने के बावजूद पिछले दो वर्षों से नीतीश सरकार ने नियुक्ति पत्र प्रतिभावान शिक्षकों को नहीं दिया है। सवाल उठाया कि आखिर सरकार बिहार के नौजवानों को बेरोजगार और बंधुआ मजदूर ही क्यों बनाना चाहती है।

सेवा में जुटा है राजद का हर सिपाही
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि राजद का हर सिपाही कोरोना संकट की इस घड़ी में राज्यवासियों की सेवा के लिए जी जान लगाए हुए है। उन्होंने पार्टीजनों का आह्वान किया कि राज्य सरकार की निष्क्रियता और लापरवाही के बावजूद हम और आप मिलकर बिहार से इस महामारी को जड़ से मिटाएंगे।



[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: