नीरागोंगो ज्वालामुखी: कांगो में ज्वालामुखी फटने से आसमान लालघरों में घुसा लावा, भारतीय सैनिक बचाव कार्य में जुटे

[ad_1]

  • Hindi News
  • International
  • Due To Volcanic Eruption In The Congo, The Skies Entered The Lagoons, Indian Soldiers Engaged In Rescue Work

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

किंशासा11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
19 साल बाद फूटा ज्वालामुखी जिससे पूरा आसमान लाल हो गया। - Dainik Bhaskar

19 साल बाद फूटा ज्वालामुखी जिससे पूरा आसमान लाल हो गया।

अफ्रीकी देश कांगो के गोमा शहर के नजदीक स्थित नीरागोंगो ज्वालामुखी 19 साल बाद फूट पड़ा है। इससे पूरा आसमान लाल हो गया। 10 किमी तक राख फैल गई है। राख हाईवे और गोमा शहर के घरों में पहुंच गया है। इससे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है। हजारों लोग पड़ोसी देश रवांडा की तरफ भाग रहे हैं।

रवांडा प्रशासन का कहना है कि गोमा के करीब 3000 लोग सीमा पार कर यहां पहुंचे हैं। दूसरी ओर, कांगो में संयुक्त राष्ट्र मिशन के हिस्से के रूप में तैनात भारतीय सेना ने हजारों नागरिकों को सुरक्षित निकाला और उन्हें सही ठिकाने तक पहुंचाया। इससे पहले 2002 में जब यह ज्वालामुखी फटा था, तब 250 लोग मारे गए गए थे। करीब 1.20 लाख लोगों को इलाका छोड़ना पड़ा था।

और फैल गई दहशत

दुनिया के सबसे खतरनाक ज्वालामुखियों में से एक है नीरागोंगो। इसने 1977 में भी तबाही मचाई थी।

दुनिया के सबसे खतरनाक ज्वालामुखियों में से एक है नीरागोंगो। इसने 1977 में भी तबाही मचाई थी।

फंड की कमी की वजह से वैज्ञानिक नियमित निरीक्षण नहीं कर पा रहे थे। इसलिए खतरे का पता नहीं चला।

फंड की कमी की वजह से वैज्ञानिक नियमित निरीक्षण नहीं कर पा रहे थे। इसलिए खतरे का पता नहीं चला।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: