बिहार: लालू की बेटी रोहिणी आचार्य ने सीएम नीतीश को दी वानप्रस्थ आश्रम जाने की सलाह, जानें वजह


बिहार में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। वहीं लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी आचार्य इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव हैं। वे इसके जरिए नीतीश कुमार सरकार के खिलाफ जमकर हल्ला बोल रही हैं। अब उन्होंने सहरसा के चंद्रायण अस्पताल का मामला उठाते हुए सीएम नीतीश को वानप्रस्थ आश्रम जाने की सलाह दी है।

दरअसल एक ट्विटर यूजर ने चंद्रायण रेफरल अस्पताल की कुछ फोटोज साझा करते हुए सीएम से इसे चालू करने का अनुरोध किया है। इसपर तंज कसते हुए रोहिणी ने कहा, ‘यही आपका विकास है कुर्सी कुमार। अस्पताल मरणासन्न अवस्था के जैसे खड़ा है। आसमानों से जैसे बिजली गिरी हो। कुछ तो जवाब दीजिए कुर्सी कुमार? नहीं तो गद्दी छोड़ कर, वानप्रस्थ आश्रम को जाइए।’

 

 

सुशील मोदी के ट्वीट पर भड़की थीं रोहिणी
दरअसल, सुशील मोदी ने सवाल किया था कि तेजस्वी यादव को सरकारी आवास के बजाय पटना में अर्जित मकानों में से किसी को कोविड अस्पताल बनाना चाहिए था, जहां गरीबों का मुफ्त में इलाज होता। उन्होंने कहा था कि तेजस्वी के परिवार में दो बहनें एमबीबीएस डॉक्टर हैं। कोरोना संक्रमण के दौर में उनकी सेवाएं क्यों नहीं ली गईं। बीजेपी सांसद के इन सवालों पर भड़कीं रोहिणी आचार्य ने कहा कि ये तो आपकी किस्मत अच्छी थी कि हम वहां पर नहीं थे। वरना अच्छे से इलाज कर देते। रोहिणी ने अपने ट्वीट में सृजन घोटाले का जिक्र करते हुए सुशील मोदी को निशाने पर लिया था। 

संबंधित खबरें





Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: