कालका विधानसभा सीट पर नहीं होगा उपचुनाव: हरियाणा के विधानसभा स्पीकर ने प्रदीप चौधरी की सदस्यता बहाल की; हिमाचल प्रदेश में रोड जाम के केस में मिली थी सजा

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Haryana’s Kalka Assembly Seat Will Not Be By election, Speaker Reinstated Pradeep Chaudhary’s Membership In Himachal

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चंडीगढ़/पंचकूलाएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
हरियाणा की कालका सीट से कांग्रेस के विधायक प्रदीप चौधरी, जिनकी सदस्यता हिमाचल में एक मामले में सजा के बाद रद्द कर दी गई थी। - Dainik Bhaskar

हरियाणा की कालका सीट से कांग्रेस के विधायक प्रदीप चौधरी, जिनकी सदस्यता हिमाचल में एक मामले में सजा के बाद रद्द कर दी गई थी।

हरियाणा के कालका में विधानसभा उपचुनाव की नौबत अब नहीं रही। गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष ने यहां के निवर्तमान कांग्रेस विधायक प्रदीप चौधरी की सदस्यता बहाल कर दी है। दरअसल, प्रदीप चौधरी को हिमाचल प्रदेश के सोलन में एक रोड जाम के मामले में सजायाफ्ता हैं और फिलहाल हाईकोर्ट से इस पर रोक लगी हुई है। इसी के चलते हरियाणा विधानसभा में प्रदीप चौधरी की सदस्यता रद्द कर दी गई थी और 24 दिन पहले वह खुद अपनी सदस्यता बचाने के लिए कोर्ट के स्टे ऑर्डर की कॉपी के साथ विधानसभा अध्यक्ष से मिले थे।

दरअसल, 2011 में एक युवक की मौत के बाद बद्दी चौक पर जाम लगाया गया था। इस मामले सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करने के आरोप में 13 जून 2011 को बद्दी थाने में केस दर्ज हुआ था। अभी थोड़े दिन पहले ही नालागढ़ की निचली अदालत ने प्रदीप चौधरी को दोषी करार दिया था। अदालत ने दोषियों को तीन-तीन साल की सजा और 85-85 हजार रुपए जुर्माना लगाया था। इसी मामले में कालका से कांग्रेस विधायक प्रदीप चौधरी के अलावा पंचकूला जिले के 14 दोषियों को सजा सुनाई गई है। 30 जनवरी को हरियाणा विधानसभा स्पीकर ने कालका से कांग्रेस विधायक प्रदीप चौधरी की विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी थी।

विधानसभा में सदस्यता बचाने के लिए हिमाचल हाईकोर्ट के स्टे ऑडर की कॉपी और अपना मांगपत्र अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता को सौंपते प्रदीप चौधरी। -फाइल फोटो

विधानसभा में सदस्यता बचाने के लिए हिमाचल हाईकोर्ट के स्टे ऑडर की कॉपी और अपना मांगपत्र अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता को सौंपते प्रदीप चौधरी। -फाइल फोटो

इसके बाद पिछले महीने हिमाचल हाईकोर्ट ने प्रदीप चौधरी को राहत देते हुए उनकी सजा पर रोक लगा दी थी। स्टे ऑर्डर की कापी मिलने के बाद निवर्तमान विधायक प्रदीप चौधरी 26 अप्रैल को हरियाणा विधानसभा में हिमाचल हाईकोर्ट के स्टे ऑर्डर की कॉपी लेकर पहुंचे थे। उन्होंने आदेश की कॉपी विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता को सौंपी। तब गुप्ता ने कहा था कि प्रदीप चौधरी ने अपनी सदस्यता बहाली को लेकर आग्रह किया है। विधानसभा की ओर से कानूनी राय लेने के बाद इस बारे में फैसला लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: