MLA अन्ना बनसोडे पर फायरिंग मामले में ट्विस्ट: विधायक का बेटा और उसके समर्थकों ने पहले आरोपी को पीटा, इसलिए उसने की फायरिंग; अब उनके बेटे समेत 8 लोगों पर दर्ज हुआ केस

[ad_1]

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पुणे7 दिन पहले

जो वीडियो सामने आया है। उसमें विधायक का बेटा और उसके समर्थक सुपरवाइजर को पीटते हुए नजर आ रहे हैं।

बुधवार को पिंपरी विधानसभा के राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी से MLA अन्ना बनसोडे पर हुए हमले के मामले में नया ट्विस्ट आ गया है। इस घटना का जो CCTV वीडियो सामने आया है, उसमें विधायक का बेटा और उसके समर्थक आरोपी को पहले बुरी तरह से पीटते हुए नजर आ रहे हैं। इसके बाद वह हवा में फायरिंग करता है। इससे पहले बुधवार को अन्ना ने कहा था कि आरोपी ने पहले उसपर फायरिंग की और फिर उनके समर्थकों ने उसे पीटा।

पुलिस की जांच में यह भी सामने आया है कि दोनों पक्षों के बीच नगर निगम के कचरे को उठाने के लिए मिलने वाले ठेके पर विवाद शुरू हुआ था। आरोप यह है कि विधायक अन्ना बनसोडे के बेटे सिद्धार्थ ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर तानाजी पवार का अपहरण किया और फिर उसे अपने कार्यालय में लाकर उसके साथ मारपीट की है। इसी मारपीट के दौरान पवार ने अपनी पिस्तौल से हवा में फायरिंग की थी।

घटनास्थल पर मौजूद खून को देख पुलिस को विधायक की कहानी पर संदेह हुआ।

घटनास्थल पर मौजूद खून को देख पुलिस को विधायक की कहानी पर संदेह हुआ।

ऐसे पुलिस ने किया मामले का खुलासा
घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस की टीम को फर्श पर एक जगह काफी खून पड़ा नजर आया और तानाजी पवार भी गंभीर रूप से घायल था। विधायक ने पुलिस को दिए बयान में कहा था कि पवार ने उनके ऑफिस में फायरिंग की थी, लेकिन वहां गोली चलने के कोई सबूत नहीं मिले। इसके बाद CCTV फुटेज की जांच में सारी कहानी सामने आ गई। इसके बाद पुलिस ने आरोपी के बयान के आधार पर विधायक के बेटे सिद्धार्थ समेत 8 लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास, अपहरण और मारपीट का केस दर्ज कर लिया है।

गोली नहीं चलाता तो हो जाती हत्या: तानाजी पवार
तानाजी पवार ने अपनी शिकायत में कहा है कि 12 मई की सुबह 11 बजे उसे जान से मारने के इरादे से अपहरण किया गया। आरोपी उसे लेकर कालभोर नगर के एक कार्यालय में आए। इसके बाद सिद्धार्थ और उसके समर्थकों ने मुझे हाथ, लात, बेल्ट, लोहे की रॉड और लकड़ी के डंडे से बुरी तरह पीटा। पवार ने यह भी कहा कि अगर वह गोली नहीं चलाता तो सिद्धार्थ लोहे की रॉड से उसकी हत्या करने वाला था।

पुलिस ने नहीं दी किसी को भी क्लीन चिट
इस मामले में विधायक की ओर से भी हत्या के प्रयास का केस तानाजी पवार के खिलाफ दर्ज करवाया गया है। फिलहाल पुलिस दोनों के आरोपों की जांच कर रही है और किसी को भी क्लीन चिट नहीं दी है।

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: