अस्पतालाें में डाॅक्टराें की कमी: कोरोना काल में डाॅक्टराें की भर्ती के लिए वाॅक इन इंटरव्यू पर रोक; कैबिनेट में जाएगा मामला

[ad_1]

  • Hindi News
  • Local
  • Himachal
  • Shimla
  • Prohibition Of Walk in Interview For Recruitment Of Doctors During The Corona Period; The Matter Will Go In The Cabinet

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शिमला2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

काेराेना संक्रमण के बढ़ते मामलाें के बीच सरकार ने डाॅक्टराें की भर्ती के लिए वाॅक-इन इंटरव्यू कार्यक्रम पर फिलहाल राेक लगा दी है। एक ओर सरकार अस्पतालाें में बेड कैपेसिटी काे बढ़ाने पर जाेर दे रही है वहीं दूसरी तरफ वाॅक-इन-इंटरव्यू कार्यक्रम पर राेक लगाई है। काेराेना मामलाें में बढ़ाेतरी के चलते प्रदेश में मेक शिफ्ट अस्पताल बनाए जा रहे हैं।

नेरचौक में पिछले कल ही मेक शिफ्ट अस्पताल शुरू किया गया है जिसमें 200 बेड जोड़े गए हैं। बेड केपेस्टी बढ़ रही है, इसलिए स्टाफ की भी जरूरत है। सरकार ने ऐसी हालाताें में वॉक इन इंटरव्यू को बंद कर दिया है। जाे अपने आप में कई सवाल खड़े कर रहा है। वर्ष 2015 बैच के एमबीबीएस छात्रों ने एक आग्रह पत्र सरकार काे भेजा है जिसमें कहा गया है कि वह अस्पतालाें में अपनी सेवाएं देने के लिए तैयार हैं।

सरकार को डाक्टरों की कमी को देखते हुए वॉक इन इंटरव्यू शुरू करने चाहिए। ऐसे 38 छात्र हैं जिन्होंने एमबीबीएस पूरी की है। इसमें आईजीएमसी के 30 और टांडा मेडिकल कॉलेज के 8 डाक्टर हैं जो कैंपस इंटरव्यू में शामिल होना चाहते हैं। स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी का कहना है कि महामारी के दौरान लाेगाें काे बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने के लिए सरकार सभी पुख्ता प्रबंध कर रही है।

कैंपस इंटरव्यू से पहले भी कई डाक्टर लिए गए हैं और आगे भी इनकी भर्ती की जाएगी। उन्हाेंने कहा वाॅक-इन इंटरव्यू काे फिर से शुरू करवाए जाने का मामला सरकार के विचाराधीन है। इस पर जल्द फैसला होगा। इस प्रस्ताव काे मंजूरी के लिए कैबिनेट की बैठक में पेश किया जाएगा।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: