हिंगोली में पुलिस पर फूटा गुस्सा: मोबाइल चोर को नहीं पकड़ने को लेकर थाने पर पथराव, 7 पुलिसकर्मी घायल; भीड़ को काबू करने के लिए करनी पड़ी फायरिंग


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हिंगोली4 दिन पहले

इस पथराव में एक इंस्पेक्टर समेत 7 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

हिंगोली जिले के औंढा नागनाथ में शनिवार को भीड़ ने पुलिस स्टेशन पर हमला कर दिया। इस हमले में एक सब-इंस्पेक्टर समेत 7 पुलिसकर्मी घायल हो गए। भीड़ मोबाइल चोरी के एक मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर पुलिस स्टेशन पहुंची थी। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए स्थानीय इंस्पेक्टर को हवा में 2 राउंड फायरिंग भी करनी पड़ी। फिलहाल पुलिस स्टेशन पर हमला करने वाले डेढ़ 100 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और अब तक 5 लोग पुलिस की गिरफ्त में भी आ चुके हैं। घायल पुलिसवालों को औंधा नागनाथ के ग्रामीण हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है।

मोबाइल चोर को पकड़ने के लिए भीड़ बना रही थी दबाव

पुलिस के मुताबिक, औंधा नागनाथ के माजिद सैयद रफीक का मोबाइल 12 मई को खो गया था। अगले दिन, उसका मोबाइल फोन पूरे दिन बंद रहा और शुक्रवार दोपहर उस पर घंटी जाने लगी। कई बार फोन करने पर किसी ने उसका फोन उठाया और उसके साथ गाली गलौज करने लगा। इसके बाद माजिद औंधा थाने पहुंचा और इस मामले में कंप्लेंट दर्ज कराई।

भीड़ पर पहले पुलिस ने किया बल प्रयोग

इसके बाद आज अचानक तकरीबन 100 से 150 लोगों की भीड़ अचानक पुलिस स्टेशन पहुंची और आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगी। उसके बाद थाने के पुलिस इंस्पेक्टर वैजनाथ मुंडे और सब-इंस्पेक्टर मुंजाजी वाघमारे ने भीड़ को शांत करने का प्रयास किया किया। लॉकडाउन की वजह से पूरे इलाके में धारा 144 लागू है और भीड़ को एक साथ जमा होने पर पाबंदी लगाई गई है। भीड़ मानने को तैयार नहीं थी, जिसके बाद भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा।

पथराव के बाद भारी संख्या में पुलिसकर्मी मौके पर मामले की जांच के लिए पहुंचे हुए हैं।

पथराव के बाद भारी संख्या में पुलिसकर्मी मौके पर मामले की जांच के लिए पहुंचे हुए हैं।

आक्रामक हुई भीड़ को कंट्रोल करने के लिए चलाई गोलियां

इससे मामला संभले की जगह बिगड़ गया और उन्होंने पुलिस स्टेशन पर पथराव शुरू कर दिया। इस पत्थरबाजी की चपेट में आने से पुलिस इंस्पेक्टर वैजनाथ मुंडे, सब-इंस्पेक्टर मुंजाजी वाघमारे, कांस्टेबल ज्ञानेश्वर गोरे, शेख एकबाल, राजकुमार सूर्या और दो अन्य घायल हो गए। भीड़ को आक्रामक होता देख इंस्पेक्टर मुंडे को हवा में दो राउंड फायरिंग करनी पड़ी। इसके बाद भीड़ तितर-बितर कोई।

डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज, पांच अब तक गिरफ्तार

इस बीच, घटना में घायल हुए पुलिस अधीक्षक और कर्मचारियों को इलाज के लिए औंधा नागनाथ के ग्रामीण अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस अधीक्षक राकेश कलासागर, अपर पुलिस अधीक्षक यशवंत काले, सहायक पुलिस अधीक्षक यतीश देशमुख और पुलिस उपाधीक्षक विवेकानंद वाखरे सहित दंगा नियंत्रण फोर्स औंधा नागनाथ पहुंची है। डेढ़ सौ से ज्यादा अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। ताजा जानकारी के मुताबिक अभी तक सिर्फ 5 लोग ही पकड़े गए हैं।

भीड़ ने इसी पुलिस स्टेशन के परिसर को घेर कर पथराव किया है।

भीड़ ने इसी पुलिस स्टेशन के परिसर को घेर कर पथराव किया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *