सिद्धू के सलाहकारों को कैप्टन की फटकार: बोले- पंजाब कांग्रेस प्रधान को सलाह देने तक सीमित रहें माली और गर्ग; देश से जुड़े जिन मुद्दों का पता न हो, उनपर चुप रहें

[ad_1]

जालंधर13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह। फाइल फोटो

पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकारों प्यारे लाल गर्ग और मालविंदर माली को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कड़ी फटकार लगाई है। सलाहकारों को यह फटकार संवेदनशील राष्ट्रीय मुद्दों पर उनके द्वारा की जा रही बयानबाजी को लेकर लगाई गई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह सिर्फ पंजाब कांग्रेस के प्रधान को सलाह देने तक सीमित रहें। जिन मुद्दों के बारे में जानकारी ना हो और खासकर जब यह भी ना पता हो कि इनके क्या परिणाम हो सकते हैं, तो उस पर कोई बयान ना दें।

कैप्टन ने अपने मीडिया एडवाइजर रवीन ठुकराल के जरिए यह ट्वीट कर उसमें नवजोत सिंह सिद्धू को भी टैग किया है। सिद्धू के सलाहकार डॉ. प्यारेलाल गर्ग ने कैप्टन अमरिंदर सिंह के पाकिस्तान की आलोचना को लेकर बयान दिया था कि यह पंजाब के हित में नहीं है। इसके अलावा मालविंदर माली ने कश्मीर को लेकर बयान दिया था कि उसे आजाद कर देना चाहिए। जिस पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग हैष उन्होंने कश्मीर व पाकिस्तान के बारे में की गई बयानबाजी को देश विरोधी करार दिया। उन्होंने सिद्धू को कहा कि वह अपने सलाहकारों पर अंकुश लगाएं।

विरोध के बावजूद माली ने वापस नहीं लिया बयान
कैप्टन ने कहा कि सलाहकारों के बयान कांग्रेस के पाकिस्तान और कश्मीर को लेकर स्टैंड के बिल्कुल विपरीत है। सिद्धू के सलाहकार माली ने कश्मीर के बारे में बयानबाजी कर पाकिस्तान की भाषा बोली है, जो पूरी तरह से देश विरोधी है। कैप्टन ने माली की आलोचना करते हुए कहा कि विरोधी दल ही नहीं बल्कि कांग्रेस के भीतर से भी उनके बयानों का विरोध किया गया, इसके बावजूद माली ने अपना बयान वापस नहीं लिया। कैप्टन ने कहा कि सिद्धू के सलाहकार जमीनी हकीकत से पूरी तरह से दूर हैं, जिस वजह से वह इस तरह की बयानबाजी कर रहे हैं।

पूरा पंजाब जानता है पाकिस्तान हमारे लिए बड़ा खतराः कैप्टन
कैप्टन ने कहा कि हर पंजाबी जानता है कि पाकिस्तान हमारे लिए बड़ा खतरा है। हर दिन वहां से हथियार और नशा ड्रोन के जरिए पंजाब में भेजकर यहां हालात खराब करने की कोशिश की जा रही है। सीमा पर सैनिक पाकिस्तान समर्थित ताकतों के हाथों मारे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गर्ग शायद भूल गए हैं कि 1980 और 1990 के दौर में पाक समर्थित आतंकवादियों की वजह से हजारों पंजाबियों ने अपनी जान गंवाई है।

खबरें और भी हैं…

Source link

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *