उत्तराखंड: सादगी से मनाया गया पत्थर मार त्योहार बग्वाल


पिथौरागढ़, 22 अगस्त (भाषा) उत्तराखंड के चंपावत जिले के देवीधुरा मंदिर में कोविड-19 प्रतिबंधों के कारण रविवार को बग्वाल उत्सव का आयोजन साधारण तरीके से किया गया। इस त्योहार में श्रद्धालु पारंपरिक रूप से एक-दूसरे पर पथराव करते है। त्योहार में भक्तों को चार कुलों में विभाजित किया जाता है, जो देवी को प्रसन्न करने के लिए एक-दूसरे पर पत्थर फेंकते हैं। देवीधुरा मंदिर समिति के अध्यक्ष खिम सिंह लम्हरिया ने कहा कि उत्सव सिर्फ सात मिनट के लिए आयोजित किया गया था। लेकिन इतने कम समय में भी कुल 300 में से 77 श्रद्धालु घायल हो गए।

यह उत्सव हर साल देवी को प्रसन्न करने के लिए एक अनुष्ठान के रूप में आयोजित किया जाता है।

लम्हरिया ने कहा कि कोविड -19 के कारण ऐहतियात के तौर पर प्रशासन में से किसी ने भी उत्सव में हिस्सा नहीं लिया और बाहर से किसी भी मेहमान को आमंत्रित नहीं किया गया।

उन्होंने कहा, ”बग्वाल फूलों और स्थानीय फलों से खेला गया। कुल 1,250 स्थानीय लोगों ने इसे देखा।”

Source link



Source link

Leave a Reply

%d bloggers like this: