संघर्ष और ज्यादा बढ़ा: इजरायल ने हमास की 15 किमी लंबी सुरंग तबाह की, भारत ने कहा- हिंसा जल्द बंद हो

[ad_1]

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
6 साल की यह बच्ची मलबे से 7 घंटे बाद जिंदा निकली, इसके ज्यादातर रिश्तेदार मारे जा चुके हैं।  - Dainik Bhaskar

6 साल की यह बच्ची मलबे से 7 घंटे बाद जिंदा निकली, इसके ज्यादातर रिश्तेदार मारे जा चुके हैं। 

  • इजरायल-फिलीस्तीन विवाद का हल निकलना अभी मुश्किल

इजरायल और फिलिस्तीनी संगठन हमास के बीच पिछले 9 दिन से जंग जारी है। सोमवार को इजरायल डिफेंस फोर्स ने दावा किया कि उसने हमास की 15 किमी लंबी सुरंग को तबाह कर दिया है। इजरायल और हमास के बीच जारी जंग में अब तक 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। इसमें 58 से ज्यादा बच्चे भी शामिल हैं।

वहीं, इजरायल-फिलीस्तीन मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में कोई नतीजा नहीं निकलने के बाद इजरायल ने गाजा पर हमले तेज कर दिए हैं। वहीं इन हमलों को लेकर अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से मिली-जुली प्रतिक्रिया मिल रही है। जबकि संयुक्त राष्ट्र में भारत ने इस संघर्ष की निंदा की। साथ ही कहा- हिंसा जल्द से जल्द बंद होनी चाहिए।

ज्यादातर पक्ष इस मामले का शांतिपूर्ण समाधान चाहते हैं। हमास के उप नेता मौसा अबू मरजौक ने कहा कि अगर कोई समझौता होगा तो हमारी शर्तों के साथ होगा, न कि इजरायल की। अगर इजरायल रुकना नहीं चाहता है, तो हम भी नहीं रुकेंगे। अमेरिका, कतर, मिस्र और अन्य देश संघर्ष-विराम की कोशिशों में लगे हैं, लेकिन चीन ने अमेरिका पर आरोप लगाकर विवाद पैदा कर दिया है।

चीन ने कहा है कि अमेरिका, संयुक्त राष्ट्र को काम नहीं करने दे रहा। वह रोड़े अटका रहा है। चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि उन्हें इसका बहुत खेद है कि अमेरिका संयुक्त राष्ट्र को इस हिंसा के खिलाफ खुलकर नहीं बोलने दे रहा है। हम अमेरिका से अपील करते हैं वह अपनी जिम्मेदारियां उठाएं।’ 9 दिन में कुल 34 हजार फिलिस्तीनी गाजा पट्‌टी से पलायन कर चुके हैं। सैकड़ों बड़ी इमारतें जमींदोज हो चुकी हैं।

सुरक्षा परिषद की चेतावनी- हल नहीं निकला तो संकट बेकाबू हो जाएगा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने चेतावनी दी है कि संघर्ष नहीं थमा तो ये पूरा क्षेत्र एक बेकाबू संकट में घिर जाएगा। उन्होंने कहा- गाजा में हो रही हिंसा बेहद भयानक है और यह संघर्ष तुरंत रुकना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने गाजा में सीजफायर के लिए अंतरराष्ट्रीय मध्यस्थों के साथ बैठक भी की, लेकिन इसमें कोई ठोस नतीजा नहीं निकल सका।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *