ब्रिटेन अनलॉक: तीन लॉकडाउन और ब्रेग्जिट के चलते हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में 3.3 लाख लोगों की कमी, ज्यादा सैलरी पर भी नहीं मिल रहे

[ad_1]

  • Hindi News
  • International
  • Due To Three Lockdowns And Breguit, There Is A Shortage Of 3.3 Lakh People In The Hospitality Industry, They Are Not Getting Much Salary.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
अधिकतम 30 लोगों के समूह में बाहर और छह या दो परिवारों के समूहों में घर के अंदर मिल सकेंगे। गले लगा सकेंगे। - Dainik Bhaskar

अधिकतम 30 लोगों के समूह में बाहर और छह या दो परिवारों के समूहों में घर के अंदर मिल सकेंगे। गले लगा सकेंगे।

  • कर्मचारी नहीं मिलने से 20% रेस्त्रां, 10% होटल अभी बंद

मार्क डेनियल डेविस

करीब पांच महीने बाद ब्रिटेन के रेस्त्रां, पब और बार को इंडोर सेवाएं देने की मंजूरी मिल गई। आधी रात से ही लोग पबों और बार के बाहर सैकड़ों की संख्या में पहुंच गए थे। पर फास्ट फूड, रेस्त्रां और होटल इंडस्ट्री से जुड़े लोग चिंतित दिखे। दरअसल तीन लॉकडाउन और ब्रेक्जिट के बाद अच्छे शेफ, बार टेंडर, वेटर और डाइनिंग स्टाफ की भारी कमी हो गई है।

नियोक्ताओं और एजेंसियों का कहना है कि अच्छे और अनुभवी लोग अनिश्चितता के चलते दूसरी नौकरियों में चले गए हैं। लंदन के सबसे पुराने रेस्त्रां में शामिल पाइड ए टेरे के डेविड मूर के मुताबिक होटल उद्योग बड़े पैमाने पर कौशल की गंभीर कमी झेल रहा है। लंदन में लोग ही नहीं मिल रहे हैं। ब्रिटेन में हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री के लॉबी समूह के प्रमुख केट निकोलस के मुताबिक सरकार के फॉरलो प्रोग्राम (छुट्‌टी में तनख्वाह) के बावजूद उद्योग 3.3 लाख स्टाफ की कमी का सामना कर रहा है।

करीब 20% रेस्त्रां और 10% होटल बंद हो गए। कम तनख्वाह, काम का ज्यादा समय और अनिश्चिततता के चलते दूसरे विकल्प तलाश रहे हैं। जॉब सर्च इंजन एडजुना के मुताबिक कैटरिंग और हॉस्पिटैलिटी के लिए मई में विज्ञापन प्री-कोविड स्तर पर पहुंच गए हैं। मानव संसाधन से जुड़ी एजेंसी सीआईपीडी के सोमवार को जारी 1000 कंपनियों के सर्वे में पता चला है कि दूसरी तिमाही में दो तिहाई हॉस्पिटैलिटी कंपनियां पहली तिमाही से 36% ज्यादा नियुक्तियां करने जा रही हैं।

लंदन में 40 से ज्यादा रेस्त्रां चलाने वाले समूह डीएंडडी को 400 लोगों की जरूरत है, बमुश्किल 200 मिल पाए हैं। सीईओ देस गुणवर्द्धने के मुताबिक यह बड़ी चुनौती है। ब्रेग्जिट के बाद करीब 50 हजार प्रवासी ब्रिटेन छोड़ चुके हैं। इस साल और भी जाएंगे। गुणवर्द्धने बताते हैं कि लंदन में हॉस्पिटैलिटी उद्योग की 38% वर्कफोर्स इन्हीं प्रवासियों की थी। इसलिए अपमार्केट रेस्त्रां को उदार होना पड़ा है।

डीएंडी के अलावा कई रेस्त्रां अब ज्यादा तनख्वाह के साथ ट्रेनिंग भी दे रहे हैं। हालांकि बड़े ऑफर के बाद भी लोग मुश्किल से मिल पा रहे हैं।

अब गले मिल सकेंगे लोग, एक-दूसरे के घर आना-जाना भी कर सकेंगे

ब्रिटेन में सोमवार से लॉकडाउन में छूट दी गई है। 21 जून तक इसे पूरी तरह खत्म करने की योजना है। गैलरी, सिनेमा, थियेटर, स्पोर्ट्स स्टेडियम, म्यूजियम और फन जोन भी खुल सकेंगे। अधिकतम 30 लोगों के समूह में बाहर और छह या दो परिवारों के समूहों में घर के अंदर मिल सकेंगे। गले लगा सकेंगे। चुनिंदा देशों के लिए फ्लाइट्स भी शुरू हो गई है। पर एयरपोर्ट पर नियम सख्त कर दिए गए हैं। पीएम जॉनसन ने लोगों से सावधानी बरतने के लिए कहा है।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *