ग़ज़ा में इजरायली हमलों को मिला जो बाइडन का साथ, लेकिन पत्रकारों और आम लोगों को लेकर जताई चिंता

[ad_1]

इजरायल के हवाई हमले के बाद ग़जा़ शहर के अल-शरोक बिल्डिंग से निकलता धुआं. (एएफपी फाइल फोटो)

इजरायल के हवाई हमले के बाद ग़जा़ शहर के अल-शरोक बिल्डिंग से निकलता धुआं. (एएफपी फाइल फोटो)

Israel Palestine Conflict on Gaza: जो बाइडन ने बतौर राष्ट्रपति फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ भी फोन पर पहली बार बातचीत की, जिसमें उन्होंने हमास से इजरायल पर रॉकेट हमले रोकने की अपील की.

  • ए पी

  • Last Updated:
    May 16, 2021, 11:50 AM IST

वॉशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ फोन पर बातचीत के दौरान हमास के मिसाइल हमलों के जवाब में ग़ज़ा में इजरायली हमलों के प्रति ‘पूरा समर्थन’ व्यक्त किया, लेकिन हमलों में आम नागरिकों के हताहत होने और पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई. व्हाइट हाउस ने बताया कि बाइडन ने शनिवार को हुई बातचीत के दौरान इजरायल में अंतर-सांप्रदायिक हिंसा और वेस्ट बैंक में बढ़ते तनाव पर ‘गहरी चिंता’ जताई. बाइडन और नेतन्याहू ने यरुशलम पर भी चर्चा की और इस दौरान बाइडन ने कहा कि यह ‘सभी धर्मों एवं पृष्ठभूमियों के लोगों के लिए एक साथ मिलकर शांति से रहने की जगह होनी चाहिए.’ ग़ज़ा में इजरायली एयर स्ट्राइक से UN परेशान, कहा- इसे हर कीमत पर रोकना चाहिए बाइडन ने राष्ट्रपति के रूप में कार्यभार संभालने के बाद फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास के साथ भी फोन पर पहली बार बातचीत की, जिसमें उन्होंने हमास से इजरायल पर रॉकेट हमले रोकने की अपील की. व्हाइट हाउस ने बताया कि बाइडन ने ‘फिलिस्तीनी लोगों को सक्षम बनाने की खातिर कदम उठाने के लिए अपना समर्थन जताया, ताकि वे गरिमा, सुरक्षा एवं स्वतंत्रता के साथ जी सकें और उन्हें आर्थिक अवसर मिल सकें, जिसके वे हकदार हैं.’

इस बीच, ग़ज़ा पट्टी से फिलिस्तीनी चरमपंथियों ने शनिवार रात इजरायल में लगभग तीन दर्जन रॉकेट दागे तो दूसरी ओर इजरायली सेना ने हमास समूह के नियंत्रण वाले क्षेत्रों को निशाना बनाकर हमले किए. पिछले कुछ माह में सीमा पार हिंसा के मामलों में वृद्धि से यरुशलम में तनाव गहरा गया है. पूर्वी यरुशलम में सैंकड़ों फिलिस्तीनियों की इजरायल पुलिस के साथ हुई झड़प के बाद ये रॉकेट दागे गए हैं. दोनों पक्षों के बीच झड़प में कम से कम चार पुलिसकर्मियों और छह प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं. रमजान के महीने में भी हिंसा पर लगा नहीं लग पाई है.







[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: