पप्पू यादव vs राजीव प्रताप रूड़ीः जाप अध्यक्ष पर लॉकडाउन उल्लंघन का केस, BJP सांसद पर धमकाने का आरोप

[ad_1]

पप्पू यादव ने पूर्व मंत्री राजीव प्रताप रूडी पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है.

पप्पू यादव ने पूर्व मंत्री राजीव प्रताप रूडी पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है.

Pappu Yadav-Rajiv Pratap Rudi: कोरोना मरीजों के लिए एंबुलेंस को लेकर पप्पू यादव और भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूड़ी के विवाद से शुरू हुई सियासत थम नहीं रही. सारण में जहां जाप अध्यक्ष के खिलाफ एक और केस दर्ज किया गया है, वहीं उन्होंने सांसद पर धमकी देने का आरोप लगाया.

पटना. जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने पूर्व मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है. हाल ही में उन्होंने एंबुलेंस को लेकर खुलासा कर राजीव प्रताप रूडी को घेरा था. इसके बाद बिहार की राजनीति गर्म है. इसके साथ ही पप्पू यादव ने पीएम केयर से मिले 600 वेंटिलेटर में एक भी चालू नहीं होने का भी आरोप लगाया. इसको लेकर उन्होंने कहा कि इसमें हुई लापरवाही पर अधिकारियों पर 302 का मुकदमा दर्ज होना चाहिए. इधर, सारण के अमनौर के सीओ ने जाप अध्यक्ष के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का केस दर्ज करा दिया है. एम्बुलेंस मामले को लेकर जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी, उनके करीबी और दामाद पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है. पप्पू यादव ने गाली-गलौज भरा एक ऑडियो भी सुनाया. साथ ही तत्कालीन डीएम पंकज पाल के ट्रांसफर की जांच की मांग भी मुख्यमंत्री से कर दी है. उन्होंने कहा कि डीएम पंकज पाल ने रूडी की एम्बुलेंस ये कहते हुए जब्त की थी कि वे इसका इस्तेमाल निजी कार्यों में करते हैं. रूडी ने कथित तौर पर सीएम से मिलकर उस डीएम का तबादला करा दिया. पप्पू यादव ने कहा कि रूडी के पटना आवास पर रहने वाले बबलू चौबे और उनके दामाद अभिमन्यु त्यागी हमारे एक वर्कर मनीष विशाल को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं. क्या रूडी का स्तर यही है? अगर उन्हें कुछ होता है तो इसके जिम्मेदारी रूडी होंगे. उन्होंने रूडी के कौशल प्रशिक्षण केंद्र की जमीन का दस्तावेज दिखाते हुए कहा कि अभी तक उन्होंने भूस्वामी को पैसे तक नहीं दिए हैं, आखिर क्यों? पप्पू यादव ने अमनौर में अपने ऊपर हुए केस पर भी सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि यह केस राजनीति से प्रेरित है, क्योंकि जब हम गए तो वहां हमने शांतिपूर्ण तरीके से चीजों को उजागर किया. उस वक्त केस करने वाले लड़के मौजूद भी नहीं थे. इस मामले की सच्चाई के लिए आईजी के नेतृत्व में जांच हो. उन्होंने कहा कि घटना के 24 घंटे बाद एफआईआर दर्ज की गई यह घटना के तुरन्त बाद क्यों नहीं?अमनौर सीओ ने पप्पू यादव पर दर्ज कराया केस इधर, पप्पू यादव पर अमनौर के अंचलाधिकारी ने कोविंड 19 के उलंघन के मामले में रविवार को अमनौर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है. शिकायत में पप्पू यादव पर विश्वप्रभा सामुदायिक केंद्र में काफिले के साथ पहुंचकर लॉकडाउन के उल्लंघन का आरोप लगाया गया है. आपको बता दें कि शनिवार को एम्बुलेंस को क्षतिग्रस्त करने को लेकर एक अन्य प्राथमिकी भी स्थानीय थाने में ही दर्ज कराई जा चुकी है.







[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: