घर में हीं पढ़े ईद की नमाज, कोरोना लॉकडाउन को लेकर इमारते-शरिया ने की अहम अपील

[ad_1]

Eid-Ul-Fitr 2021

Eid-Ul-Fitr 2021

Eid-2021: इमारते शरिया बिहार का बड़ा मुस्लिम संगठन है और रमज़ान समेत ईद का चांद की घोषणा इमारते शरिया ही करता है. अगर आज चांद देखा गया तो कल ईद मनाई जाएगी नहीं तो 14 मई जुमा को ईद मनाई जाएगी.

पटना. रमज़ान का पवित्र महीना अब ख़त्म होने पर है ऐसे में मुस्लिम धर्म के लोग ईद (Eid 2021) की तैयारी में जुट गए हैं. ईद का चांद कब निकलेगा इस पर हर किसी की नज़र है. ईद को लेकर इमारते शरिया (Imarat-E-Sharia) उड़ीसा बिहार और झारखंड के कार्यकारी नाज़िम मौलाना सिबली क़ासमी ने महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए बताया कि आज 29वां रमज़ान है. आज शाम को इमारत-ए-शरिया उड़ीसा बिहार झारखंड खुद ईद का चांद देखने का प्रबंध किया है और लोगों से भी चांद देखने की अपील की है. अगर आज चांद देखा गया तो कल ईद मनाई जाएगी नहीं तो 14 मई जुमा को ईद मनाई जाएगी. इमारते शरिया बिहार का बड़ा मुस्लिम संगठन है और रमज़ान का चांद और ईद का चांद की घोषणा इमारते शरिया ही करता है और उसके बाद लोग ईद मनाते है. इस बार शरिया के कार्यकारी नाज़िम ने लोगों से अपील कि कोरोना की वजह से लगे लॉकडाउन की वजह से मुसलमान ईद की नमाज़ घरों में ही अदा करें, साथ ही लॉकडाउन की गाइडलाइन्स का भी पालन करें. उन्होंने मुस्लिम संगठन ने भी अपील की है कि वैसे मुस्लिम भाई ईद की नमाज़ के बाद आपस में गिला शिकवा दूर करके गले मिलते थे एक दूसरों के यहां खुशिया मनाने जाते थे वो इस बार कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस चीज से परहेज करें. इमारते शरिया के कार्यकारी नाज़िम ने कहा की कोरोना की वजह से लोग बेहद परेशान है, कई लोगों की मौत हुई है, इस बार लोग दुआ करे की ये बीमारी जल्द से जल्द ख़त्म हो और लोग अमन चैन से रह सकें.

इमारते शरिया उड़ीसा बिहार और झारखंड के कार्यकारी नाज़िम मौलाना सिबली क़ासमी

दरअसल पिछले दो साल से कोरोना की वजह से ईद की नमाज़ गांधी मैदान में नहीं पढ़ी जा रही है. नमाज़ के वक्त बड़ी संख्या में लोग गांधी मैदान पहुंचते थे और ईद की नमाज़ पढ़ते थे. इसमें मुख्यमंत्री से लेकर राज्यपाल तक शामिल होते थे. गांधी मैदान ही नहीं बल्कि ईदगाह और मस्जिदों में भी नमाज़ अदा नहीं की जा रही है, ताकि कोरोना का ख़तरा नहीं बढ़े.  नमाज अदा करने के बाद मुबारकबादी देने की परंपरा भी है साथ ही पूरे दिन दावत भी होती है.







[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *