32 साल पहले दोस्त के प्यार का दुश्मन बन गए थे लव मैरिज करने वाले पप्पू यादव, जानें अपहरण की पूरी कहानी

[ad_1]

पत्नी रंजीत रंजन के साथ पप्पू यादव (फाइल फोटो)

पत्नी रंजीत रंजन के साथ पप्पू यादव (फाइल फोटो)

Pappu Yadav News: मधेपुरा जिला के मुरलीगंज थाना के इसी मामले में पप्पू को आज पुलिस ने जेल में डाला है. पप्पू और उसके अन्य साथियों पर रामकुमार यादव और उमा यादव के अपहरण का आरोप है. पप्पू यादव के दोस्तों ने इस केस की कहानी न्यूज 18 को बताई.

मधेपुरा. बिहार में इन दिनों ‘गरीबों के मसीहा’, ‘रॉबिनहुड’ जैसे नाम से जाने जा रहे पूर्व सांसद पप्पू यादव (Pappu Yadav) अपनी गिरफ्तारी को लेकर काफी चर्चा में हैं. कोरोना काल में लोगों की सेवा करने के बाद एंबुलेंस प्रकरण (Rajiv Pratap Rudy Ambulance Case) के कारण सुर्खियों में आये पप्पू यादव फिलहाल सुपौल जेल में बंद हैं. उनकी रिहाई को लेकर सड़क से सोशल मीडिया तक मुहिम चल रही है. ऐसे में उनसे जुड़ीं कई कहानियां भी सामने आ रही हैं. दरअसल, इस राजनेता की जिन्दगी काफी रोचक रही है. पूर्व सांसद ने भले ही रंजीत रंजन से प्रेम विवाह किया हो, लेकिन एक कहानी ऐसी भी है, जिसमें वे प्यार के दुश्मन बन गए थे. ये बात बहुत कम लोगों को पता होगी. इस बात का खुलासा उस 32 साल पुराने केस की कहानी से हुआ, जिस मामले में उनको पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मामला 1989 का है जब पप्पू यादव पूर्णिया में पढ़ाई करते थे. मुरलीगंज में उनके कई साथी थे और वे अक्सर यहां आते-जाते रहते थे. उनका दोस्त एक लड़की से प्यार करता था और उससे शादी करना चाहता था. पप्पू इस शादी के खिलाफ थे और इसी मामले में उनका उनके सथियों से विवाद हो गया.

Youtube Video

दोस्तों की जुबानी अपहरण की कहानीघटना की शुरुआत केपी कॉलेज के मैदान में हुई. इसी मैदान पर पप्पू यादव और उनके मित्रों में प्रेम विवाह को लेकर बहस हुई थी. केस के सूचक शैलेन्द्र यादव जो अभी ग्वालपाड़ा थाना क्षेत्र के बीरगांव चतरा पंचायत के सरपंच भी हैं, ने न्यूज़ 18 को बताया कि कॉलेज में बहस के एक-दो दिन बाद हम लोग मुरलीगंज के मीडिल चौक पर पान खा रहे थे. इसी दौरान पप्पू अपने साथियों के साथ आए थे और हमारे दो साथियों को उठाकर अपने साथ ले गए. पहले तो हमारी समझ में कुछ नहीं आया, लेकिन बाद में पुलिस को शिकायत कर दी. दो दिनों के बाद दोनों साथी सकुशल वापस आ गए.

Pappu Yadav arresting

दो दिन पहले पटना पुलिस ने JAP के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव को उनके आवास से गिरफ्तार किया था

एक साल बाद ही बन गए विधायक
कुछ दिनों के बाद पप्पू यादव अन्य मामले में गिरफ्तार भी हुए और फिर बेल पर बाहर भी निकले. इधर उस दोस्त की भी शादी उसकी प्रेमिका से हो गई और सबकुछ सामान्य हो गया. पप्पू भी राजनीति में आ गए. एक साल बाद ही 1990 में सिंहेश्वर से पहली बार निर्दलीय विधायक बने और इस तरह से पप्पू का राजनीतिक करियर आगे बढ़ता चला गया. इस प्रेम विवाह प्रकरण ने हम सभी दोस्तों को दो गुटों में बांट दिया था. शैलेन्द्र बताते हैं कि मामला तो कब का खत्म हो चुका था. हम सब दो-दो बार न्यायालय में पिटीशन भी दे चुके थे. इस कांड के अन्य आरोपी बरी भी हो गए लेकिन अचानक इस मामले में पप्पू की गिरफ़्तारी समझ से परे है, यह जरूर राजनीतिक साजिश है. 32 साल पुराने केस में गिरफ्तारी से हैरानी मुरलीगंज थाना के इसी मामले में पप्पू को आज पुलिस ने जेल में डाला है. पप्पू और उसके अन्य साथियों पर रामकुमार यादव और उमा यादव के अपहरण का आरोप है. इसके सूचक शैलेन्द्र यादव थे. इस मामले के एक अन्य गवाह कृतनारायन यादव भी इस 32 साल पुराने मामले में पप्पू की गिरफ़्तारी से हैरान हैं. वो तो सीधे कहते हैं भाजपा सांसद के एम्बुलेंस प्रकरण को उजागर करना ही पप्पू को भारी पड़ा और सरकार ने उन्हें साजिश के तहत जेल भेज दिया. इस समय रामकुमार यादव और उमा यादव केपी कालेज के छात्र थे. केपी कालेज के शिक्षक रहे प्रो. नागेन्द्र यादव को पप्पू की गिरफ़्तारी की सूचना अख़बार से मिली वो भी काफी चिंतित हैं.

Corona Politics कोरोना पर सियासत, Pappu Yadav पप्पू यादव, BJP MP Rajeep Pratap Rudi भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूड़ी, Ambulance

भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूड़ी और जाप संरक्षक पप्पू यादव.

गिरफ्तारी पर बोले दोस्त 32 साल पुरानी इस घटना को याद करते हुए वो कहते हैं कि उस समय काफी हल्ला हुआ हुआ था कि पप्पू यादव कालेज के दो छात्रों का अपहरण कर लिया है. लेकिन एक दो दिन बाद ही हमारे दोनों छात्र सकुशल वापस आ गए थे. जब उनसे पूछा गया 32 साल बाद पप्पू की गिरफ्तारी को आप क्या मानते हैं? तो उन्होंने कहा कोरोना काल में जो वो इतनी सेवा कर रहे थे, उस हालत में ऐसे गिरफ्तार किया जाना दुखद है.







[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: