समुद्र के 3 हजार फीट नीचे रहता है ये एलियन, मछुआरे के जाल में फंसा कंटीले दातों वाला ‘दैत्य’

[ad_1]

मछुआरों की नजर जैसे ही इस मछली पर पड़ी सब डर से भाग गए

मछुआरों की नजर जैसे ही इस मछली पर पड़ी सब डर से भाग गए

सोशल मीडिया (Social Media) पर पैसिफिक फुटबॉल फिश (Pacific Football Fish) की तस्वीर वायरल हो रही है. ये मछली समुद्र तल से तीन हजार फ़ीट नीचे रहती है. साथ ही इसे कभी भी देखा नहीं जाता. लेकिन बीते दिनों अचानक ये एलियन जैसी मछली कैलिफोर्निया के बीच पर नजर आ गई.

समुद्र के नीचे की दुनिया (Another World Inside Sea) काफी दिलचस्प और रहस्यमयी है. समुद्र के गर्भ में कई अजीबोगरीब जीव (Weird Animals) छिपे हुए हैं. इन्हीं जीवो में से एक है Pacific Football फिश. देखने में मछली किसी दैत्य (Monster Fish) से कम नजर नहीं आती. लेकिन ये रहती समुद्र से तीन हजार फ़ीट नीचे. लोगों की नजरों से दूर रहने वाली ये मछली बेहद कम मौकों पर लोगों की नजरों के सामने आती हैं. कैलिफोर्निया (California) के बीच पर लोगों को बीते दिनों इस मछली को देखने का मौका मिला. मछुआरे के जाल में फंसी फेसबुक पर लॉस एंजिलिस बोट टूर एजेंसी Davey’s Locker Sportfishing & Whale Watching नाम के फेसबुक पेज ने इस मछली का वीडियो पोस्ट किया. इस बोट पर मौजूद मछुआरे मछली पकड़ने को समुद्र में उतरे थे. लेकिन उनके में ये दैत्य फंस गया. किनारे आकर उन्होंने जब जाल खोला तो सभी की आंखें इसे देख फट गई. ये किसी एलियन जैसा नजर आ रहा था. कंटीले दांत थे डरवानेइस अजीबोगरीब जीव के दांत काफी डरवाने थे. इसके दांत रेजर जैसे तेज थे. कंटीले दांत किसी इंसान की चमड़ी उधेड़ने को काफी है. जब मछुआरों ने इसे पहली बार देखा तो डर गए. इसके बाद उन्होंने इसकी जानकारी स्टेट पार्क रेंजर्स को दी, जिन्होंने बताया कि ये कोई दैत्य नहीं बल्कि मछली की एक प्रजाति है जो समुद्र तल के तीन हजार फ़ीट नीचे रहती है. काफी कम आती है नजर ये मछली एंगलरफिश की प्रजाति में गिना जाता है. इसे देखा जाना काफी रेयर होता है. ये दिखने में दैत्य से नजर आते हैं. हालांकि, आखिर समुद्र की इतनी गहराई में रहने वाली ये मछली जाल में कैसे फंस गई, ये पता नहीं चल पाया. हालाँकि ये फंसी मछली जिंदा नहीं रह पाई. एक्सपर्ट्स इसकी बॉडी को कब्जे में लेकर इसकी जांच में जुट गए हैं.







[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: