शहाबुद्दीन के जनाजे में लगे लालू के खिलाफ नारे, डैमेज कंट्रोल के लिए सामने आये तेजस्वी


शहाबुद्दीन के निधन के बाद बिहार की सियासत लगातार जारी है (फाइल फोटो)

शहाबुद्दीन के निधन के बाद बिहार की सियासत लगातार जारी है (फाइल फोटो)

Shahabuddin Death News: दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद शहाबुद्दीन की मौत कोरोना से हो गई थी. उनकी मौत को लेकर बिहार में सियासत तेज है. जीतन राम मांझी की पार्टी भी इस मामले में जांच की मांग कर चुकी है.

पटना. बिहार के बाहुबली और राजद के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मौत (Shahabuddin Death) के बाद भी सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है. तिहाड़ जेल में बंद मोहम्मद शहाबुद्दीन की कोरोना (Corona) से हुए मौत के बाद जब दिल्ली के ITO कब्रिस्तान में उन्हें दफन किया गया तो जनाने में साथ आए लोगों का गुस्सा लालू परिवार (Lalu Family) के खिलाफ खुलकर सामने आया. इस मौके पर शहाबुद्दीन के परिवारवालों के साथ भारी संख्या में शहाबुद्दीन के प्रशंसक भी मौजूद थे जिन्हें इस बात से बहुत नाराजगी थी कि शहाबुद्दीन को सीवान उनके पैतृक गांव के बजाए दिल्ली में दफनाया गया. प्रशंसकों ने इसके लिए प्रशासन से ज्यादा आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और तेजस्वी को जिम्मेदार ठहराया. उनका आरोप है कि लालू यादव और तेजस्वी ने सरकार और स्थानीय प्रशासन पर सीवान में सुपुर्द-ए-खाक करने का कोई दवाब नहीं बनाया जबकि मोहम्मद शहाबुद्दीन के दम पर ही लालू यादव की आरजेडी MY समीकरण का दंभ भरती है. यही नहीं ITO कब्रिस्तान के पास शहाबुद्दीन समर्थकों ने खुलकर लालू-तेजस्वी के खिलाफ नारेबाजी भी की. माहौल को भांपते हुए तुरंत नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर अपना सफाइनामा सबके सामने रख दिया. तेजस्वी ने अपनी सफाई में कहा है कि लालू प्रसाद यादव और उन्होंने खुद सरकार और स्थानीय प्रशासन से गुहार लगाई, खूब दवाब भी बनाया लेकिन सरकार कोरोना प्रोटोकॉल का हवाला देकर सीवान ले जाने की अनुमति नहीं दी. तेजस्वी ने इसके लिए सरकार की हठधर्मिता को जिम्मेदार ठहराया. यही नहीं तेजस्वी ने अपनी सफाई में ये भी कहा कि स्थानीय प्रशासन मोहम्मद शहाबुद्दीन को ITO के बजाए किसी दूसरे कब्रिस्तान में दफनाना चाहती थी लेकिन उन्होंने दिल्ली के कमिश्नर से खुद बातकर दिल्ली ITO कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-ख़ाक की अनुमति दिलाई. इसके अलावे नाराज प्रशंसको को मनाने के लिए तेजस्वी ने कहा है कि मोहम्मद शहाबुद्दीन के निधन से उनकी पार्टी को अपूरणीय क्षति हुई है. राजद उनके परिवारवालों के साथ हर मोड़ पर खड़ी रही है और आगे भी खड़ी रहेगी. मालूम हो कि कोरोना से हुई मौत के बाद राजद के पूर्व सांसद रहे शहाबुद्दीन की मौत कोरोना के कारण शनिवार को हुई थी.









Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *