फायदेमंद साबित हुई नई वैक्सीन पॉलिसी! मई की तुलना में जून में करीब दोगुना हुआ टीकाकरण

[ad_1]

(संतोष चौबे)नई दिल्ली. कोविड-19 (Covid-19) के खिलाफ जारी टीकाकरण के आंकड़े बेहतर होते नजर आ रहे हैं. मई में धीमी हुई वैक्सीन की रफ्तार में जून में फिर बढ़त देखी गई. बीती मई की तुलना में जून में रोज करीब दोगुनी औसत से टीके लगाए गए. वहीं, मई से जून तक मासिक टीकाकरण में भी 96 फीसदी की तेजी आई. इस दौरान रोज होने वाले वैक्सिनेशन में 102 प्रतिशत की बढ़त हुई. हालांकि, केंद्र के सामने अभी भी आबादी के एक बड़े हिस्से को टीका लगाने का एक अहम काम बाकी है.

30 मई को केंद्र ने देश को भरोसा दिलाया था कि जून में 11 करोड़ 95 लाख 70 हजार डोज की सप्लाई की जाएगी. वहीं, जून में प्रति दिन 39 लाख 88 हजार 979 की औसत से 11 करोड़ 96 लाख 69 हजार 381 डोज दिए गए. जबकि, मई में प्रतिदन 19 लाख 69 हजार 580 की औसत के साथ यह आंकड़ा 6 करोड़ 10 लाख 57 हजार 003 पर था. मई में सरकार ने 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन देने का फैसला किया था.

अप्रैल से तुलना की जाए, तो जून में टीकाकरण की रफ्तार 33.15 प्रतिशत बढ़ी है. अप्रैल में रोज 29 लाख 95 हजार 724 डोज की औसत के साथ कुल 8 करोड़ 98 लाख 71 हजार 739 लोगों को वैक्सीन दी गई थी. मई में तेजी से गिर कर रहे टीकाकरण के आंकड़ों के चलते राज्य सरकारों को केंद्र से इस प्रक्रिया पर दोबारा नियंत्रण करने का निवेदन करना पड़ा था.

यह भी पढ़ें: 4 लाख से ज्यादा मौतों वाला तीसरा देश बना भारत, ज्यादा प्रभावित देशों से हालात बेहतर

इससे पहले मई से लेकर 20 जून तक देश में विकेंद्रीकृत नीति पर काम हुआ था. इसके तहत निजी अस्पतालों और राज्य सरकारों को 18-44 आयुवर्ग के लिए 50 फीसदी वैक्सीन की व्यवस्था करनी थी. जबकि, 45 साल से ज्यादा आयुवर्ग के लिए केंद्र की तरफ से वैक्सीन मुफ्त में दी जा रही थी. 21 जून से लागू हुई नई वैक्सीन नीति के चलते 30 जून तक यानि महज 10 दिन में ही टीकाकरण की रफ्तार में तेजी देखी गई. आंकड़ों के लिहाज से जून महीने का 44 फीसदी टीकाकरण जून महीने के महज 10 दिनों में ही पूरा हो गया था.

अभी आगे है बड़ी चुनौती

देश में 94.02 करोड़ की वयस्क आबादी को टीका लगाने का काम अभी बाकी है. वहीं, सेंसस 2011 के अनुमान के अनुसार, अंतिम लक्ष्य 136.13 करोड़ की कुल भारतीय जनसंख्या को टीका लगाना है. अब तक प्राप्त डेटा के अनुसार, 33 करोड़ 57 लाख 16 हजार 019 या 35.7 फीसदी आबादी को पूरी या आंशिक रूप से वैक्सीन लग चुकी है. जबकि, 6.34 प्रतिशत आबादी का पूरी तरह टीकाकरण हो चुका है. इसका मतलब है कि भारत में अभी भी 60 करोड़ 44 लाख 83 हजार 981 लोग ऐसे हैं, जिन्हें वैक्सीन नहीं मिली है. वैक्सीन प्रोग्राम के मौजूदा दौर में आबादी के इस वर्ग का ख्याल भी रखा जाना है.

[ad_2]

Source link

Live Sachcha Dost TV

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: